Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

दमोह में बिछ गई शतरंज की चुनावी बिसात, किसे मिलेगी शह, किसे मिलेगी मात!

दमोह : मध्यप्रदेश में दमोह जिले की दमोह विधानसभा सीट पर शतरंज की चुनावी बिसात बिछ चुकी है। निर्वाचन आयोग के द्वारा चुनाव की घोषणा के बाद आदर्श आचार संहिता भी लग चुकी है। वही अब चंद ही दिनों के बाद नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी और 17 तारीख को मतदान भी होगा। ऐसे में दमोह का विधानसभा उपचुनाव एक शतरंज की बिसात की तरह नजर आ रहा है। जहां पर राजनीतिक दल और राजनीतिक लोग शह और मात का खेल खेलने के लिए तैयार हैं।

मध्यप्रदेश में केवल दमोह में हो रहा है उपचुनाव

मध्य प्रदेश के केवल दमोह जिले की जिला मुख्यालय की विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। विधानसभा का उपचुनाव इसलिए होना है। क्योंकि यहां से निर्वाचित कांग्रेस के पूर्व विधायक राहुल सिंह लोधी ने कांग्रेस का हाथ छोड़कर के कमल का दामन थाम लिया था। यही कारण है कि केवल दमोह में विधानसभा का चुनाव होना है और यह चुनाव रोमांचक होगा, क्योंकि पूरे प्रदेश में केवल एक ही विधानसभा पर चुनावी सरगर्मियां नजर आएंगी। हर एक पार्टी के बड़े से बड़े नेता का सभाओं में आगमन हो सकता है, और मतदाताओं को अपनी और रिझाने की कवायद भी। ऐसे हालात में आगामी 1 महीना चुनाव के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण माना जाएगा। वहीं चुनाव होने के बाद 17 अप्रैल के बाद 2 मई तक का इंतजार भी राजनीतिक पार्टियों के साथ दमोह विधानसभा की जनता के लिए चर्चाओं का केंद्र रहेगा, क्योंकि इतने लंबे समय बाद चुनाव का परिणाम सामने आएगा।

शतरंज की बिसात की तरह है दमोह का चुनाव

दमोह का चुनाव पूरी तरह से शतरंज की बिसात की तरह है। दरअसल दमोह में अगले माह केवल दमोह में चुनाव होना है। ऐसे हालात में प्रदेश के सभी राजनीतिक पार्टी के पदाधिकारी इस चुनाव पर नजर रखेंगे। उनके दौरे भी होंगे और जनता को रिझाने के प्रयास भी। जिससे दमोह विधानसभा की जनता उनके पक्ष में वोट कर सकें। मतलब साफ है कि चारों ओर से दमोह विधानसभा सीट पर हर एक राजनीतिक पार्टी हर एक राजनीतिक नेता और हर एक व्यक्ति की नजर रहेगी और शतरंज की चाल की तरह एक दूसरे को शह देने और मात देने का दौर भी जारी रहेगा। नामांकन दाखिल होने के साथ ही राजनीतिक पार्टियों के चुनावी दौरे तेज होंगे। वोट मांगने की प्रक्रिया शुरू होगी और दमोह में चुनावी घमासान भी देखने मिलेगा। चारों ओर से दमोह विधानसभा उपचुनाव शतरंज की बिसात की तरह बीच में स्थित मोहरों को चलने के लिए मुफीद साबित भी होगा।

राजनीतिक पार्टियां मात देने तैयार

दमोह के विधानसभा उपचुनाव में प्रमुख राजनीतिक दल एक दूसरे को मात देने के लिए तैयार है। भारतीय जनता पार्टी ने जहां अपने प्रत्याशी की घोषणा चुनाव की घोषणा के पहले ही कर दी थी। तो वही प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस के द्वारा प्रत्याशी के लिए मंथन किया जा रहा है। हर एक समीकरण को ध्यान में रखकर प्रत्याशी चयन कमेटी के द्वारा भोपाल में प्रत्याशी की तलाश की जा रही है। तो वही दावेदार अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। बहुजन समाज पार्टी पूरी घेराबंदी के साथ चुनाव में मात देने के लिए तैयार है। तो समाजवादी पार्टी से भी इस विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारे जाने की संभावना है। आम आदमी पार्टी द्वारा विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी उतारने के मामले में संशय बरकरार है। नगरीय निकाय चुनाव के लिए उन्होंने प्रत्याशी की घोषणा कर दी है। लेकिन किसी भी तरह के उपचुनाव में लड़ने के लिए आलाकमान द्वारा पहले ही निर्देश जारी कर मना किया गया है। ऐसे में कुछ अन्य राजनीतिक पार्टियां चुनावी मैदान में अपनी संख्या बल के लिहाज से मात देने के लिए तैयार दिखाई दे रही हैं। देखना यह होगा कि इस शतरंज की चुनावी बिसात में कौन किसे मात दे पाता है और कौन कितने नंबर पर आता है।

शह देने निर्दलीय हो रहे हैं तैयार

दमोह के इस विधानसभा उपचुनाव में प्रमुख राजनीतिक दलों के बागी भी संभवत मैदान में आ सकते हैं, और ऐसे में यदि इन पार्टियों के बागी चुनावी मैदान में होंगे तो चुनावी पार्टियों के लिए शह मिलना लाजमी है। विधानसभा चुनाव के लिए दमोह विधानसभा की घोषणा होते ही यह कयास लगाए जाने लगे थे, कि राजनीतिक दलों को अपने ही लोगों से शह मिल सकती है, और अब यह आसार नजदीक भी लग रहे हैं। क्योंकि चुनाव आ गया है और दिन भी कम है ऐसे में शतरंज का यह खेल तेजी के साथ राजनीति की बिसात पर काम करने के लिए तैयार है।

Our Visitor

9 1 8 5 6 4
Users Today : 284
Total Users : 918564
Who's Online : 18

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: