Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

जैन मिलन – सांसे हो रही कम, आओ मिलकर पेड़ लगाए हम!

दमोह : पांच जून विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जैन मिलन नगर प्रमुख शाखा दमोह द्वारा पौधा रौपण अभियान का शुभारंभ किया गया है। उक्त जानकारी देते हुए कार्यक्रम के प्रभारी वीर जवाहर जैन ने बताया कि जैन मिलन प्रतिवर्ष पर्यावरण संरक्षण के लिए नये नये प्रयास करती है। हमारी कोशिश होती है कि सेफ परिसर में ही हम वृक्षारोपण करे। जिससे हमारे द्वारा रौपण किये गये पौधे बडे़ हो सके। विगत् बर्षो में हमने कुडलपुर, एवं ईवीएम परिसर में पौधा रौपण किये थे जो आज भी सुरक्षित है।

यह अतिथि रहे मौजूद

जैन मिलन नगर प्रमुख शाखा के अध्यक्ष सवन जैन सिलवर ने कहा कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दमोह के ट्री मेन के नाम से विख्यात मिशन ग्रीन दमोह के संरक्षक सिद्धार्थ मलैया थे। वही कार्यक्रम के आमंत्रित अतिथि जैन मिलन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अतिवीर नेम कुमार सराफ, राष्ट्रीय सयुक्त मंत्री अतिवीर आर के जैन, दिगंबर जैन पंचायत के अध्यक्ष सुधीर सिंघई, शाखा के संरक्षक राकेश पुजारी, नन्हे मंदिर कमेटी के अध्यक्ष गिरीश नायक थे।

पेड़ पौधों पर दी विस्तृत जानकारी

इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सिद्धार्थ मलैया ने कहा की इस कोरोना काल में पेड़ों का महत्व तो आज सभी की समझ में आ गया होगा, फिर भी कुछ रोचक जानकारी आपको दे रहा हूँ। पेड़ धरती पर सबसे पुरानी विरासत हैं, और ये कभी भी ज्यादा उम्र की वजह से नही मरते। हर साल 5 अऱब पेड़ लगाए जा रहे है लेकिन हर साल 10 अऱब पेड़ काटे भी जा रहे हैं। एक पेड़ दिन में इतनी ऑक्सीजन देता है कि 4 आदमी जिंदा रह सकें। देशों की बात करें, तो दुनिया में सबसे ज्यादा पेड़ रूस में है। उसके बाद कनाडा में उसके बाद ब्राज़ील में फिर अमेरिका में और उसके बाद भारत में केवल 35 अऱब पेड़ बचे हैं। दुनिया की बात करें, तो 1 इंसान के लिए 422 पेड़ बचे है। लेकिन अगर भारत की बात करें, तो 1 हिंदुस्तानी के लिए सिर्फ 28 पेड़ बचे हैं। पेड़ो की कतार धूल-मिट्टी के स्तर को 75% तक कम कर देती है, और 50% तक शोर को कम करती हैं। एक पेड़ इतनी ठंड पैदा करता है। जितनी 1 AC 10 कमरों में 20 घंटो तक चलने पर करता है।जो इलाका पेड़ो से घिरा होता है वह दूसरे इलाकों की तुलना में 9 डिग्री ठंडा रहता हैं। एक एकड़ में लगे हुए पेड़ 1 साल में इतनी Co2सोख लेते है जितनी एक कार 41,000 km चलने पर छोड़ती हैं। किसी एक पेड़ का नाम लेना मुश्किल है लेकिन तुलसी, पीपल, नीम और बरगद दूसरों के मुकाबले ज्यादा ऑक्सीजन पैदा करते हैं। उन्होंने सभी से अपील की है की जैन मिलन की ही तरह सभी इस बरसात में कम से कम एक पेड़ अवश्य लगायें


स्वयं जगें लोगों को जगाएं…मिलकर पर्यावरण बचाएँ


इस अबसर पर मिलन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नेमकुमार सराफ ने कहा की ऐक पेड़ अनेक जिंदगी बचा सकता है। इसलिए हम सभी का नेतिक कर्तव्य है कि हम ऐक पेड़ जरुर गोद ले, उसको आत्म निर्भर होने तक उसकी देखभाल करें। वही राष्ट्रीय सयुक्त मंत्री अतिवीर आर के जैन ने कहा कि दुनिया को सर्वाधिक आक्सीजन अमेजान के जंगल से प्राप्त होती है। हम भी यह प्रयास करें की भारत प्राकृतिक आक्सीजन उतपादन में भी अग्रिम पंक्ति में हों। दिगंबर जैन पंचायत के अध्यक्ष सुधीर सिंघई ने कहा की बक्सवाहा में जो जंगल काटे जाने का प्रयास हीरा खदान के नाम पर हो रहा है, प्रकृति के साथ खिलवाड़ है। आज सभी वुन्देलखंड वासियों को एक होने की जरूरत है। अन्यथा संपूर्ण वुन्देलखंड प्राकृतिक आपदाओ के लिए तैयार रहे। नन्हें मंदिर के अध्यक्ष गिरीश नायक ने कहा इन रोपे गये पौधों को पूर्ण विकसित करने की जिम्मेदारी मंदिर कमेटी की है। अगले बर्ष आज के ही दिन हम पुनः इसी स्थान पर मिलेंगे और पहली बर्ष गांठ मनायेंगे।

कोरोना काल पर भी जैन मिलन ने किया अद्भुत कार्य

शाखा के संरक्षक राकेश पुजारी ने कहा की जैन मिलन सामाजिक संगठन है। जिसने कोरोना काल में भी आक्सीजन बैंक, जरुरत मंद को अनाज सहित मासिक राशन, दवाई आदि की व्यवस्था की और किसी भी लाभार्थी के नाम भी प्रचारित नहीं किया यह ऐक बड़ा प्रेरक कार्य है। शाखा की तरफ से दिनेश जैन छाया, मुकेश जैन द्वारा आमंत्रित अतिथियों का तुलसी के पौधे से सम्मान किया गया। वहीं कार्यक्रम प्रभारी संतोष जैन अविनाशी द्वारा पंच लाईन ” क्योंकि सांसे है कम तो पेड़ लगायें हम” देते हुए आमंत्रित अतिथियों का आभार प्रगट किया गया। कार्यक्रम का आयोजन कोरोना गाईड लाईन के अनुसार किया गया। जिसका संचालन चौधरी राजकुमार जैन तारण द्वारा किया गया।

इनकी रही विशेष उपस्थिति

कार्यक्रम में मुख्य रूप से अरुण जैन, जिनेन्द्र उस्ताद, राजेश जैन ओशो, दिलेश जैन चौधरी, शैलेंद्र बजाज, संजय सराफ, आलोक पलंदी, शैलेंद्र मयूर, चक्रेश सराफ, सुधीर जैन डवलू, मुकेश जैन ग्रेन, अशोक जैन हास्पिटल, रज्जन शाहपुर, विकल्प जैन, अनिल जैन फोटो, पदम जैन लहरी, विकास जैन, राजेश हिनोती, संदेश चौधरी, अखलेश पंडित जी, प्रभात जैन, सचिंन्द्र जैन, के.सी जैन आदि प्रमुख रुप से उपस्थित थे।

Our Visitor

9 2 6 1 5 5
Users Today : 110
Total Users : 926155
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: