Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9425081918}

थोड़ा धैर्य रखें, निर्णय लेने से पूर्व मनन करे – अपर जिला न्यायाधीश नवीन पाराशर

दमोह : राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जबलपुर द्वारा जारी निर्देशानुसार प्रिंसिपल जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती रेणुका कंचन के मार्गदर्शन में शासकीय कन्या जे.पी.बी. उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में जिला न्यायाधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नवीन पाराशर, जिला विधिक सहायता अधिकारी गुन्ता डांगे, प्राचार्य राजकुमार खरे, विधिक सेवा क्लब प्रभारी/ शिक्षक अंजना जैन, शिक्षक अनीता चौहान, शिक्षक शरद मिश्रा एवं छात्रायें उपस्थित रहीं।

जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव नवीन पाराशर ने उपस्थित छात्राओं को संबोधित करते हुये कहा कि यदि आप अपने जीवन में अच्छी आदतों को अपनायेंगे तो भविष्य में उसके परिणाम भी अच्छे प्राप्त होगें। जैसे यदि आप मोबाईल में कुछ सर्च करेंगे तो कई चीजें आपके सामने खुलेगी जिनमें से कुछ अच्छी होगी और कुछ बुरी तब हमें ये देखना है कि हमारी नजर सही पर रूकती है या फिर गलत पर, इससे आपको पता चल जाएगा की आप किस दिशा में बढ़ रहे हैं।

जिला न्यायाधीश श्री पाराशर ने उपस्थित छात्राओं को गुड टच व बेड टच के संबंध में जानकारी देते हुये कहा हम देश के नागरिक है तो हमें अपने कानूनों, मौलिक अधिकारों एवं कर्तव्यों की जानकारी रखनी चाहिये। यह भी कहा यदि आप किसी भी काम को करने के पहले थोड़ा धैर्य रखेगें और कोई भी निर्णय लेने से पूर्व उस पर मनन करेगें तो निश्चित रूप से आपके द्वारा लिया गया निर्णय सही एवं उचित होगा।

इस दौरान उपस्थित छात्राओं को न्यायाधीश द्वारा यातायात संबंधी नियमों का पालन करने एवं अपने लक्ष्य का निर्धारण कर भविष्य में प्राप्त हो सकने वाले अवसरों के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुये वर्तमान में व्याप्त कोविड-19 संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुये कोविड गाईडलाईन का पालन करने एवं मास्क लगाने हेतु प्रोत्साहित किया गया।

जिला विधिक सहायता अधिकारी गुन्ता डांगे ने उपस्थित छात्राओं को जीवन में सतर्कता बरतते हुये सोशल मीडिया के माध्यम से कभी भी किसी पर्सनल जानकारी को मोबाईल पर शेयर न करने, बिना सोचे समझे किसी भी मैसेज को फारवर्ड न करने एवं किसी भी लिंक को न खोलने के बारे में बताते हुये जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की योजनाओं यथा घरेलू हिंसा, निःशुल्क विधिक सहायता, परिवार विवाद समाधान केन्द्र एवं स्कूल में संचालित विधिक सेवा क्लब के संबंध में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन विधिक सेवा क्लब प्रभारी/शिक्षक अंजना जैन द्वारा किया गया।

कार्यक्रम के अंत में प्राचार्य राजकुमार खरे द्वारा उपस्थित मुख्य अतिथि, जिला न्यायाधीश/ सचिव नवीन पाराशर एवं जिला विधिक सहायता अधिकारी गुन्ता डांगे का उक्त कार्यक्रम सम्पन्न करने हेतु आभार व्यक्त करते हुये भविष्य में भी विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा इसी प्रकार के आयोजन किये जाने हेतु आग्रह किया ताकि छात्राओं/ बच्चों को उनके कानूनी अधिकारों से अधिक से अधिक लाभान्वित किया जा सके।

Our Visitor

9 6 1 7 2 7
Users Today : 187
Total Users : 961727
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: