Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9425081918}

काम करेंगे तब कहीं जाकर आत्मनिर्भर भारत बनेगा – केन्द्रीय राज्यमंत्री प्रहलाद पटैल

देश की आजादी का 75 वां वर्ष प्रारंभ हो चुका है, आजादी कठिनाई से मिली हैं, इसका एहसास हमें और आने वाली पीढ़ी को होना चाहिए, जब  हम अपने रोजगार के साथ-साथ दूसरे लोगों को रोजगार देने का, आत्मनिर्भर भारत के अभियान के तहत, स्व सहायता समूहों से चर्चा एवं ऋण वितरण कार्यक्रम जटाशंकर मंगल भवन में संपन्न

दमोह : देश की आजादी का 75 वां वर्ष प्रारंभ हो चुका है, प्रधानमंत्री जी ने इसका नाम दिया है अमृत महोत्सव, 75 सप्ताह पहले यह प्रारंभ हुआ, यह सिर्फ आयोजन नहीं है, प्रधानमंत्री जी कहते है आजादी कठिनाई से मिली हैं, इसका एहसास हमें और आने वाली पीढ़ी को होना चाहिए, समूह की माताएं बहनें राजनीतिक, सामाजिक क्षेत्र में काम करने वाले लोग, व्यापारी विद्यार्थी, शासन-प्रशासन सब मिलकर यह संकल्प लें, जब देश की आजादी के 100 वर्ष पूरे होंगे तो भारत अच्छी स्थिति में होगा। इस आशय के विचार केन्द्रीय खाद्य प्रसंस्करण उद्योग एवं जल शक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद पटैल  ने आज स्थानीय जटाशंकर स्थित मंगल भवन में आयोजित आत्मनिर्भर भारत के अभियान के तहत स्व सहायता समूहों से चर्चा एवं ऋण वितरण कार्यक्रम में व्यक्त किये। कार्यक्रम में वेयरहाउसिंग लॉजिस्टिक एवं कारपोरेशन अध्यक्ष (केबिनेट मंत्री दर्जा) राहुल सिंह लोधी, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी, जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण्‍ पटैल, विधायक जबेरा धमेंन्द्र सिंह लोधी, कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य, पंडित सतीश तिवारी, गोपाल पटैल मचासीन थे।

            केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री प्रहलाद पटैल ने कहा अभी हम जिन चीजों का आयात करते हैं उसका हम निर्यातक भी बने, हमारा एक-एक कदम सार्थकता से भरा हो, आने वाली पीढ़ी को हम समर्थ कर जाएं ताकि वह गर्व से कह सके हमारे पूर्वजों ने हमें कुछ किया है। उन्होंने कहा दूसरी बात प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि जब से देश आजाद हुआ है तब से आज तक हमने कितना विकास और गति प्राप्त की है, इससे ज्यादा हम कर सकते थे, इसका आंकलन हमको करना चाहिए । केन्द्रीय राज्यमंत्री ने कहा जब  हम अपने रोजगार के साथ-साथ दूसरे लोगों को रोजगार देने का काम करेंगे तब कहीं जाकर आत्मनिर्भर भारत बनेगा। किसान और सरकार के गेप के बीच को भरने का कार्य खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय का है, इस गैप को भर दिया जाना चाहिए।

            केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल ने कहा आत्मनिर्भर भारत के अभियान में प्रधानमंत्री जी ने स्व सहायता समूह की लगभग 4 करोड़ से ज्यादा माता-बहनों संवाद किया है, तब उन्होंने कहा था कि समूह को 10 लाख रूपये बैंक ऋण मिलता है उसको बढ़ाकर 20 लाख रूपये कर दिया गया है।

             केन्द्रीय मंत्री श्री पटेल ने कहा समूह अनाज खरीदते हैं, गौशाला चलाते हैं, फूड प्रोसेसिंग में गेहूं के आटा को छोड़कर बाजरा, दाल, मसाला, पापड़, बड़ी आदि अनाज से जो चीज बनती है, अगर यह काम समूह करती है तो प्रारंभ में समूहों को 40 हजार रूपये की बीट मनी के रूप में दिया जाता है, बाद में बैंक से वह ऋण ले सकती हैं, जिसमें 35 प्रतिशत का अनुदान समूह को दिया जाता हैं।

            उन्होंने कहा यदि समूह में एसटी -एससी महिलाए हैं तो उन्हें 50 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता हैं, मिशन ग्रीन वन और मिशन ग्रीन टू में कोल्ड चैन के तहत 10 लाख  रुपए तक या 35 प्रतिशत जो भी हो उसमें दिया जा सकता है। यदि कोई कोल्ड स्टोरेज बनाता है तो उसे सब्सिडी के रूप में 10 करोड़ दी जा सकती है। एक व्यक्ति या एक समूह, सरकारी संस्था, एफपीओ किसान बनते हैं तो इन चारों को लाभ लेने का अधिकार है।

            केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल ने जिला प्रशासन को बधाई देते हुये कहा प्रशासन को 100 परिवारों का लक्ष्य था, जिसमें 220 आवेदन आए, 168 को राज्य शासन ने स्वीकृत किया है और 131 को अनुदान भेज दिया। उन्होंने कहा किसान संपदा योजना या ग्रीन योजना के अंतर्गत स्वाबलंबन के रास्ते चलने की जबरजस्त क्षमता है, हम सबको इस में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। चीजें हमारे सामने होते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में हम उसका उपयोग नहीं कर पाते, हम सब इन बातों को जानकर आगे बढ़ने का कार्य करें।

            उन्होंने कहा प्रधानमंत्री की दूरदर्शिता को नमन करता हूं, प्रधानमंत्री ने जनधन खाता खुलवाएं तब किसी को पता नहीं था कि कोरोनावायरस इस विपरीत परिस्थिति में प्रधानमंत्री में जनधन खाते के माध्यम से गरीब आदमी के खाते में पैसे डालने का कार्य किया, यही दूरदर्शिता का उदाहरण है, प्रधानमंत्री जी ने कहा था किसान उत्पादक समूह बनाया जाए, एफपीओ बन गए तो प्रधानमंत्री जी ने 10 हजार करोड़ रुपये 5 साल के लिए रखा जिससे उन संस्थाओं को मजबूती मिली। केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल ने कहा समूहों को जितनी आज प्राथमिकता दी जा रही है पहले कभी नहीं दी गई, प्रधानमंत्री जी ने समूहों की महिलाओं से सीधे बात की उससे पहले किसी ने उनसे सीधे बात नहीं की है।

            मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग लॉजिस्टिक एवं कारपोरेशन अध्यक्ष (केबिनेट मंत्री दर्जा) राहुल सिंह लोधी ने कहा पिछले वर्ष कोरोना काल चल रहा था, उस समय बहुत ज्यादा सैनिटाइजर, मास्क, पीपीई किट की कमी आ गई थी, तब उस समय कलेक्टर ने तय किया था कि स्व-सहायता समूह के माध्यम से इन चीजों को बनाया जाएगा। सभी स्व-सहायता समूह की माताओं-बहनों को शुभकामनाएं, धन्यवाद जिन्होंने ऐसी विपरीत परिस्थिति के समय में हजारों की संख्या में सेनिटाइजर, मास्क, पीपीई किट बनाए।

            लॉजिस्टिक एवं कारपोरेशन अध्यक्ष श्री सिंह ने कहा प्रधानमंत्री मोदी जी का स्वप्न है आत्मनिर्भर भारत बने, आत्मनिर्भर दमोह बने, विपत्ति के दौर में दमोह का नाम हुआ था, साथ ही साथ पिछले वर्ष उपार्जन खरीदी में स्व सहायता समूह की महिलाओं ने खरीदी की, धान, गेहूं की खरीदी में भी स्व-सहायता समूह को काम देने का प्रयास किया, किसी भी काम में महिलाएं-बहने पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ काम करतीं हैं, वे सभी बधाई की पात्र हैं। उन्होंने कहा आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए सतत प्रयास किया जाता रहेगा।

            भाजपा जिलाध्यक्ष प्रीतम सिंह लोधी ने कहा प्रधानमंत्री जी का सपना है, आत्मनिर्भर भारत बनने का, वह आप सब के सहयोग से साकार करने का काम किया जा रहा है, निश्चित ही इसमें आजीविका मिशन के माध्यम से स्व-सहायता समूह बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा स्व-सहायता समूह अपना काम करके आत्मनिर्भरता का परिचय दिया है, जिससे उनकी आर्थिक उन्नति, परिवार की समृद्धि के प्रति जो उनकी जवाबदेही है, निभाने का काम और अपनी उन्नति तथा समृद्धि के रास्ते खोल रहे हैं, निश्चित ही आप सभी माताएं-बहने बधाई के पात्र हैं।

            जिला पंचायत अध्यक्ष शिवचरण पटेल ने कहा प्रधानमंत्री जी द्वारा स्व-सहायता समूह के माध्यम से हमारा भारत आत्मनिर्भर भारत बन रहा हैं। उन्होंने कहा पहले परिवार में एक ही सदस्य जीविका का आधार होता था, अब पूरे परिवार की माताओं-बहनों को जीविका दिलाने के प्रति जोर दिया गया जा रहा है, ताकि हम आत्मनिर्भर भारत बना सकें। स्व-सहायता समूह के माध्यम से सभी काम माताए-बहनों को दिए जा रहे हैं, जिससे देश और क्षेत्र की तरक्की होगी।

            इस मौके पर केन्द्रीय राज्यमंत्री श्री पटैल ने आजीविका मिशन स्व सहायता समूहों को चेक वितरित किये तथा महिलाओं से चर्चा की और उनके द्वारा तैयार की गई सामग्री का अवलोकन किया। यहां पर 100 स्व सहायता समूहों को एक करोड़ 10 लाख रूपये की राशि वितरित की गई।

            इस अवसर पर आजीविका मिशन अधिकारी श्री श्याम गौतम ने आजीविकास मिशन, स्व सहायता समूहों के बारे में विस्तार से अपनी बात रखीं। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन सीईओ जिला पंचायत अजय श्रीवास्तव ने व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन विपिन चौबे ने किया।

            कार्यक्रम के दौरान एसडीएम दमोह श्री राकेश सिंह मरकाम, सांसद प्रतिनिधि श्री नरेन्द्र बजाज, सीईओ जनपद दमोह श्री हलधर मिश्रा, श्री  हेमंत छाबड़ा, श्री मोन्टी रैकवार, श्री संजय यादव, नर्मदा सिंह, श्री बिल्लू वाधवा, वर्षा रैकवार, स्व.सहायता समूह के सदस्यगण, जनप्रतिनिधिगण, सम्मानीय मीडियाजन, गणमान्य नागरिक एवं समूह की महिलाएं भी मौजूद थी।

Our Visitor

9 6 1 7 2 7
Users Today : 187
Total Users : 961727
Who's Online : 2

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: