Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

किसानों को आधार होगा अनिवार्य

दमोह : कलेक्टर तरूण राठी ने जिले के कृषकों से कहा है कि अपनी उपज विक्रय के समय उपार्जन केन्द्र पर दस्तावेज आधार कार्ड की प्रति, बैंक पासबुक की प्रति, समग्र सदस्य आईडी की प्रति (न होने पर पेन कार्ड की प्रति), वनाधिकार पट्टाधारी को पट्टे की प्रति, सिकमीदार किसानों को सिकमी अनुबंध की प्रति तथा किसान पंजीयन पर्ची का हस्ताक्षरित प्रिंट आऊट जमा करना होंगे. जिनका मिलान केन्द्र प्रभारी द्वारा किया जायेगा एवं मिलान होने उपरांत कृषक तौल पर्ची जारी करने की कार्यवाही की जायेगी.
उन्होंने कहा है किसानों की पहचान सुनिश्चित करने हेतु आधार नंबर आवश्यक होंगे, जिनके पास आधार नहीं है, उन्हें आधार पंजीयन कराकर ई-आईडी नंबर उपलब्ध कराने हेतु अवगत कराया जाये. जिन किसानों द्वारा आधार पंजीयन करा लिया गया है. किन्तु उनको आधार नंबर प्राप्त नहीं हुये है, ऐसे आधार नंबर की खोज किसान द्वारा इंटरनेट कैफे पर जाकर यूडीआई के पोर्ट से ज्ञात की जा सकेगी. उन्होंने संबंधितों से कहा है कृषकों को तौल पर्ची अनुसार नियत तिथि में आने के लिये प्रेरित किया जाये तथा इसका व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाये. जिससे एसएमएस तिथि के बिना आने पर अनावश्यक वापस लौटने एवं प्रतीक्षा की अप्रिय स्थिति निर्मित न होने पाये. उन्होंने कहा है कृषकों को अनावश्यक प्रतीक्षा न करनी पड़े इस हेतु प्रत्येक केन्द्र पर सुविधा काउंटर स्थापित किये जायें, जो कृषकों को ऑनलाईन कृषक तौल पर्ची एवं तौल का संभावित समय जारी किये जायें तथा कृषक तौल पर्ची के क्रम में एफएक्यू उपज होने पर तौल करें. कृषक तौल पर्ची में नीचे अंकित कराया जाये “यह केवल तौल पर्ची है’ विक्रय मात्रा के देयक पृथक से समिति से प्राप्त किये जाऐं.
राज्य स्तर से समय-समय पर क्षेत्रीय अधिकारी भ्रमण पर आयेंगे और सघन पर्यवेक्षण एवं मानीटरिंग की जायेगी. राज्य उपार्जन समिति विशेष रूप से जिले में उपार्जन केद्रों पर भौतिक एवं मानव संसधानों की व्यवस्था, राज्य एवं जिला स्तर के प्रशिक्षणों की व्यवस्था, खरीदी के दौरान उपार्जन की तकनीकी समस्याओं का निराकरण, गुणवत्ता नियंत्रण हेतु समय-समय पर दलों को भेजना एवं क्षेत्रीय भ्रमण करना, परिवहन एवं भण्डारण के बिन्दुओं को ध्यान में रखना तथा साप्ताहिक समीक्षा, सामयिक प्रशिक्षण एवं कठिनाईयों के निराकरण की आवश्यक व्यवस्थायें बनाने संबंधी जायजा लेगी. उल्लेखनीय है समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन हेतु भारत सरकार द्वारा खरीफ विपणन मौसम 2019-20 के लिये औसत अच्छी गुणवत्ता (एफएक्यू) के धान कामन रूपये 1515, धान (ग्रेड-ए) रूपये 1835 का मूल्य प्रति क्विंटल घोषित किया गया है.

Our Visitor

9 1 4 7 8 4
Users Today : 4
Total Users : 914784
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: