Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

अव्यवस्थाओं के बीच महिलाओं की नसबंदी

दमोह/ पथरिया : सरकार ने एक तरफ तो आदेश दे रखे हैं कि एएनएम व आशा सहयोगिनी व अन्य स्टाफ अधिक से अधिक महिलाओं को नसबंदी कराने के लिए प्रेरित कर शिविर तक लाए. जबकि गुरुवार को दूर-दराज के गांवों से पथरिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नसबंदी कराने के लिए आई महिलाओं की सुविधाओं को लेकर किसी का ध्यान नहीं था. यहां तक कि अस्पताल प्रशासन ने भी शिविर से पहले महिलाओं के लिए किसी प्रकार की सुविधा का इंतजाम नहीं करवाया. असुविधाओं के बीच ही दोपहर 2 बजे से पचास महिलाओं की नसबंदी की गई. सुबह 6:00 बजे से करीब 200 महिला नसबंदी कैंप शिविर नसबंदी कैंप शिविर में सम्मिलित होने पहुंची. लेकिन सरकारी अस्पतालों में मरीजों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ के मामले सामने आए हैं. सरकारी अस्पतालों में नसबंदी सर्जरी के बाद मरीजों को फर्श पर सोने के लिए मजबूर होना पड़ा. जिन महिलाओं का नसबंदी ऑपरेशन हुआ, उन्हें ऑपरेशन के बाद अस्पताल में बेड तक नहीं मिला. जिसके कारण महिला मरीजों को बेड के बजाय जमीन पर लिटा दिया गया. बात यहीं तक खत्म नहीं हुई, नसबंदी करवाने आईं महिलाओं के लिए एंबुलेंस तक सुविधा नहीं थी. वो अपने खर्चे पर अस्पताल पहुंची थीं. सिर्फ इतना ही नहीं, इलाज के बाद मरीजों को स्ट्रेचर भी नहीं मिला, जिसकी कारण उन्हें परिवार के लोग हाथों में उठाकर बाहर लेकर गए. नवंबर महीने में ठंड के मौसम में नसबंदी का ऑपरेशन करवाने वाली महिलाओं को संक्रमण फैलने के खतरे को पूरी तरह से नजरअंदाज किया गया, जहां एक तरफ स्वास्थ्य महकमे द्वारा नसबंदी को लेकर समाज में जागरूकता लाने एवं प्रोत्साहित करने की बातें की जाती है, वहीं दूसरी तरफ पथरिया की यह घटना की तस्वीरें स्वास्थ्य विभाग के बेहद लापरवाह रवैये को उजागर करने के साथ-साथ शर्मसार भी करती है. जहां मरीज के परिजन अस्पताल की व्यवस्थाओं को कोसते नजर आए. तो महिलाओं को नसबंदी के लिए लेकर आई आशा कार्यकर्ता भी व्यवस्थाओं को लेकर गुस्सा जाहिर करते दिखे. तो वही बीएमओ का कहना था कि सभी व्यवस्थाएं की गई है भीड़ अधिक होने के कारण कुछ व्यवस्था हो जाती है.

Our Visitor

9 1 4 9 0 3
Users Today : 27
Total Users : 914903
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: