Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

टाइगर रिजर्व की मनमानी के खिलाफ आदिवासी हुए लामबंद आंदोलन की चेतावनी!

पन्ना नेशनल पार्क की तानाशाही के खिलाफ आदिवासियों ने सौंपा ज्ञापन दी आंदोलन की चेतावनी, नेशनल पार्क की दहशत से गांव जोड़ने को मजबूर आदिवासी अमित भटनागर मौजूद रहे.

दमोह : आधा सैकड़ा आदिवासियों ने पन्ना नेशनल पार्क पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए ग्रामीण अधिकार संगठन के बैनर तले संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमित भटनागर के नेतृत्व में ज्ञापन आदिवासियों ने जोरदार नारों के साथ प्रदर्शन करते हुए कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा. जिसमे बड़ी संख्या में महिलाएं भी सामिल थी.

हटा तहसील के बछामा, उदयपुरा, मदनपुरा, सामरसिंघी, बलोनी, ककरा, ढुला, धोरिया सहित 8 गांव के आदिवासियों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि पन्ना नेशनल पार्क अपने तानाशाही पूर्ण रवैये से हमारी तीन पीढ़ी से काबिज जमीन व शासन द्वारा प्राप्त राजस्व की पट्टे वाली जमीन बिना किसी नोटिस या जानकारी के जबरन छीन कर नर्सरी बना रहा है. जो की हम लोगों के जीविकोपार्जन का एक मात्र श्रोत्र है. ग्रामीण अधिकार संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अमित भटनागर ने कहा कि पन्ना नेशनल पार्क न केवल आदिवासियो के मौलिक अधिकारों का हनन कर रहा है, उनकी आजीविका छीन रहा है. बल्कि एक ऐसा दहशत का माहौल बना रहा है जिससे आदिवासी गांव छोड़ने को मजबूर हो रहे है. अमित भटनागर ने पन्ना नेशनल पार्क के तानाशाहीपूर्ण रवैये की निंदा करते हुए 10 दिन के अंदर आदिवासियों को न्याय न मिलने पर तीव्र आंदोलन की चेतावनी दी.

प्रदर्शन कार्यक्रम में राममिलन गोंड़, शिवरानी गोंड़, सद्दी बाई, गौरा रानी आदिवासी, बाबू आदिवासी सियारानी आदिवासी, सुंदर गोंड़, बलदेव गोंड़, एकता परिषद के सुजात खान, ग्रामीण अधिकार संगठन के भगत राम तिवारी, बहादुर आदिवासी मौजूद रहे.

Our Visitor

9 2 4 8 5 7
Users Today : 4
Total Users : 924857
Who's Online : 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: