Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9425081918}

हर वाहन हो सकता है हादसों का शिकार ? सुरक्षा के नहीं इंतजाम, क्या प्रशासन कर रहा है इंतजार!

इस पुलिया से क्‍या किसी बडे हादसा का इंतजार है प्रशासन को 24 घंटा में 240 यात्री बसों सहित निकलते हजारों वाहन, आये दिन घटती छुटपुट घटनाएं

संजय जैन / हटा /दमोह : सीधी जिला के बस हादसा ने आमजन ने दिल को झंझकोर कर रख दिया है, हादसा गंभीर है. अब शासन प्रशासन सबक ले रहा है, हादसा की पुनर्रावृति न हो इस पर मंथन प्रारंभ हो गया. हटा नगर में रेस्‍ट हाउस के पास नाला पर बनी पुलिया सदैव हादसा को आमंत्रण देता है, इस पुलिया पर रैलिंग न होने के कारण कई बार लोग इससे नीचे गिरे, घायल हुए निजी स्‍तर पर इलाज कराया, पुलिया से गिरने के कारण पूर्व में कुछ लोगों की मौत भी हो चुकी है. शासन प्रशासन की अनदेखी के कारण कभी भी कोई हादसा हो सकता है.

इस संकीर्ण पुलिया से प्रतिदिन करीब 240 यात्री बसों सहित एक हजार से ज्‍यादा दुपहिया, चार पहिया एवं भारी वाहनों का आना जाना रहता है, पुलिया निर्माण से लेकर आज दिनांक तक इसकी न तो रैलिंग बनाई गई न ही पाइप की रैलिंग लगाई गई. इसी पुलिया से होकर अनेक छात्र छात्राएं पैदल व छोटे वाहनों से आते जाते है. इसी मार्ग से होकर जनपद पंचायत कार्यालय, कृषि विभाग, पशु चिकित्‍सा विभाग, जेल, तहसील कचहरी, मंडी, दुग्‍ध संकलन केन्‍द्र, एसडीओपी कार्यालय, पीएचई कार्यालय सहित अन्‍य विभागों में लोगों का आना जाना रहता है.

पुलिया पर ओवर टेक या क्रासिंग के दौरान कई बार हादसा हो चुके है, शासन प्रशासन के प्रतिनिधियों, अधिकारियों, कर्मचारियों के वाहन भी इसी मार्ग से निकलते है, साइड न मिलने के कारण जाम जैसी स्थिति में फंसे रहते है, लेकिन गन्‍तव्‍य तक पहुंचने के उपरांत सब भूल जाते है,
हादसा होने के उपरांत शोक संवेदनाएं तो सभी प्रकट करते है, लेकिन घटना घटित होने के पूर्व यदि जिम्‍मेदार जाग्रत हो जाये तो स्‍वाभाविक है किसी मां की गोद खाली नहीं होगी, किन्‍ही बच्‍चों के सिर से उनके पालक की छत्र छाया बची रहेगी, तो कोई सकुशल आने वाले दिनों को देख सकेगा.

जब जिम्‍मेदार जीवियों से इस संबंध में बात की तो पता चला कि नगरीय क्षेत्र में आने वाली यह पुलिया पर नया पुल स्‍वीकृत हो चुका है, बजट आभाव के कारण कार्य नहीं हो पा रहा है, पहले यह मार्ग एवं पुलिया लोक निर्माण विभाग के पास थी, जिसे तीन वर्ष पूर्व नगर पालिका को हस्‍तांरित किया जा चुका है, जिसकी सारी जिम्‍मेदारी भी नगर पालिका की है. भगवान न करे इस पुलिया से कोई हादसा हो, जल्‍द ही पुलिया को पुल में बदला जाये ताकि कोई अपंग व बेसहारा न हो.

Our Visitor

9 4 7 0 3 2
Users Today : 7
Total Users : 947032
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: