दुकान में खींचकर नाबालिग से दुष्कर्म

दमोह : दमोह से फिर एक सनसनीखेज खबर है जहाँ एक नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप की वारदात सामने आई है. वारदात के बाद इलाके के पुलिस भी संदेहों के घेरे में है, क्योंकि पीड़ित लड़की ने डायल 100  को वारदात के बाद फोन लगाया, लेकिन पुलिस दो दिन बाद हरकत में आई और दो दिन बाद मामला दर्ज हो पाया है.


मध्यप्रदेश में महिलाओं और लड़कियों के साथ छेछाड़ उत्पीड़न और रेप की वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही है.  सरकार और पुलिस के लाख दावों के बाद भी लड़कियां महफूज नहीं है. दमोह जिले के पथरिया थाने के सतपारा गावं में एक नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ गैंगरेप की वारदात इसका उदहारण है. सतपारा में एक स्कूली छात्रा बीते शुक्रवार को एक किराना दूकान में सामान खरीदने गई थी और दुकानदार ने लड़की का हाँथ खींचा और उसे अंदर ले लिया और फिर दुकानदार और उसके एक साथ ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. पीड़ित परिवार के मुताबिक़ लड़की ने वारदात के बाद डायल हंड्रेड पर पुलिस को सूचना दी लेकिन पुलिस नहीं आई. दो दिनों तक लड़की डरी सहमी रही और रविवार को उसने फिर पुलिस क फोन किया तब कहीं जाकर उसकी रिपोर्ट पुलिस थाने में लिखी गई.

एक नाबालिग के साथ इस तरह की घिनौनी वारदात के बाद लोग गुस्से में आ गए और पुलिस के रवैये से नाराज लोगों ने पथरिया थाने का घेराव किया. तब कहीं जाकर पुलिस हरकत में आई और पुलिस ने दो आरोपियों के खिलाफ मामला कायम किया है, और दोनों आरोपी पुलिस गिरफ्त में आ गए है.

बहरहाल एक और नाबालिग हवस का शिकार बनी है और उसका मेडिकल परिक्षण कराकर इलाज कराया जा रहा है. एक तरफ हैवानों की हैवानियत है, तो दूसरी तरफ पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान है. दो दिनों बाद पुलिस हरकत में आई ऐसे में महिला सुरक्षा के दावे खोखले साबित हो रहे है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *