Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9425081918}

बोर से निकल रही गैस, क्या सच में है गैस का भंडार ? या फिर ख्याली शिगूफा, हो रहा है यूं ही प्रचार ?

हटा उपकाशी में मिला गैस का भंडार… जरूरत है ओएनजीसी के सर्वे की…. कमता गांव मे एक दर्जन से अधिक बोरबेल मे गैस रिसाव की आशंका…. क्षेत्र में पर्याप्त गैस भंडारण होने की संभावना….

दमोह : जिले में पेट्रोलियम पदार्थों और गैस के अपार भंडार होने की संभावनाएं भी क्षेत्र में बढ़ रही है। पहले भी ग्रामीण अंचल में कुछ दिनों तक अचानक बोर से अपने आप पानी निकलते रहने या गैस की गंध की घटनाएं सामने आ चुकी हैं. वही अब दमोह जिले के हटा अनुविभाग अंतर्गत आने वाले गैसाबाद थाना क्षेत्र के कमता गांव में पिछले दो बर्षो से होने वाले नलकूपों की खुदाई में गैस रिसाव की जानकारी सामने आईं हैं.

संभावना हो सकता है भंडार

हटा मुख्यालय से 27 किलोमीटर दूर स्थित ग्राम पंचायत मुहरई में शामिल छोटे से इस गाँव में हुए नलकूप खनन में गंध मिश्रित होने के साथ पानी का स्वाद अच्छा नहीं लग रहा है. दो बर्ष पहले किसान मुन्ना पटेल ने अपने खेत में तीन सौ फीट बोर कराया, लेकिन जब उसमें मशीन डाली तो पानी में गंध होने की वजह से एक बार माचिस की तीली जलाकर पानी में लगाई तो पानी मे कुछ समय के लिए आग लगी. इसी तरह उसी गांव में दर्जन भर से अधिक किसानों ने अपने खेत मे बोर कराया तो उसमें अलग से गैस जैसी गंध आ रही है. आलम यह है कि बोर के पास तीली लगाने से आग की लपटें निकलने लगती हैं. यहां पर पेट्रोलियम गैस का भंडार होने की संभावना है लेकिन पुष्टि नहीं है.

क्षेत्र के लगभग सभी नलकूपों के हैं यह हालात

क्षेत्र में लगभग सौ एकड से अधिक क्षेत्रफल मे दो दर्जन से अधिक बोर हुए है. जिन बोर में 250 फीट तक पानी नहीं निकलता उसके बाद गंध और अमलीय पानी निकल रहा है. जिसमें आग लगाने पर लपटें निकलती हैं. लेकिन अभी तक किसी जगह इसकी शिकायत नहीं की है. बोर में गैस निकलने से खेतों की सिचाई नहीं हो पा रही हैं. पानी के साथ गैस निकलने से ग्रामीणों में हमेशा डर बना रहता है कि कहीं आग ना लग जाएं. भूगर्भ के बारे में जानकर भले ही इसे पेट्रोलियम पदार्थों की उपलब्धता से जोड़कर देख रहे हों, लेकिन हाल फिलहाल तो इतने रुपये खर्च करके बोर कराने वाले किसान खेती में पानी के लिए परेशान हैं.

जबेरा और हटा क्षेत्र में हुए हैं कई सर्वे

दमोह जिले की जबेरा विधानसभा और हटा विधानसभा क्षेत्र में ओएनजीसी के द्वारा लगातार ही पेट्रोलियम पदार्थों की खोज के लिए सर्वे किए जाते रहे हैं. अनेक वर्षों से इन दोनों ही क्षेत्रों में इस तरह के सर्वे चल रहे हैं और इस तरह के मामले भी सामने आ रहे हैं. लेकिन अभी तक किसी को भी सुखद परिणाम की कोई सूचना नहीं है, कोई समाचार नहीं है कि आगामी दिनों में क्या दमोह जिले के विधानसभा क्षेत्रों में पेट्रोलियम पदार्थ निकलने की कोई विशेष योजना बनाई जाएगी या फिर केवल किसानों के खेतों के नलकूपों से निकलने वाली गैस और गंध युक्त पानी से ही दमोह जिले के लोग हर्षित होते रहेंगे, ख्याली पुलाव पकाते रहेंगे. इस खबर के आने के बाद इसे बड़ी सफलता के रूप में प्रचारित किया जा रहा है. लेकिन कितनी सच्चाई है. यह तो अभी जमीन के गर्त में है.

Our Visitor

9 4 2 5 6 8
Users Today : 14
Total Users : 942568
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: