Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9425081918}

मुख्यमंत्री ने दमोह में प्रबुद्धजनों से चर्चा की, दमोह जिला किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं रहेगा!

दमोह : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान दमोह जिले के प्रवास के दौरान यहां के प्रबुद्धजनों से मिले। नीलकमल गार्डन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने दमोह जिले के विकास को लेकर प्रबुद्धजनों से चर्चा की। चर्चा में प्रबुद्धजनों ने दमोह के विकास के बारे में अपने सुझाव रखे। मुख्यमंत्री ने प्रबुद्धजनों को आश्वस्त किया कि दमोह जिला विकास के किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं रहेगा और पैसे की कमी नहीं रहने दी जायेगी। मीथेन गैस भण्डार मिलने से क्षेत्र की तस्वीर बदल जायेगी। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड पर्यटन की अच्छी संभावना है। इनका दोहन किया जायेगा।


इस अवसर पर केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार प्रहलाद पटैल, नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, पीडब्यूक डी. मंत्री गोपाल भार्गव, सांसद एवं भाजपा प्रदेशअध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, पूर्वमंत्री श्री जयंत मलैया, रामकृष्ण कुसमरिया, मध्यप्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक्स कॉरपोरेशन अध्यक्ष (कैबिनेट मंत्री दर्जा) राहुल सिंह विधायक धर्मेन्द्र सिंह लोधी, पुरूषोत्तम लाल तंतुवाय, रामबाई गोविंद सिंह, प्रदुम्न लोधी, हरीशंकर खटीक, समाजसेवी प्रीतम सिंह लोधी, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मालती असाटी, सोना बाई, चिकित्सक साहित्यकार इंजीनियर, एडवोकेट, सामाजिक कार्यकर्ता, विभिन्न समाजों के अध्यक्ष और वरिष्ठ नागरिक मौजूद रहे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोनाकाल की आपदा को अवसर में बदल दिया है। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत बनाने की बात कही है। आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाया जायेगा। इसका रोडमेप तैयार कर लिया गया है और संकल्प के साथ इस दिशा कार्य किया जा रहा है। भौतिक अधोसंचरनाएं अच्छी सड़क, सिंचाई व्यवस्था, पेयजल, शिक्षा तथा अर्थव्यवस्था और रोजगार के लिए प्रतिद्धधता से कार्य किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि दमोह में आज मेडीकल कॉलेज की आधारशिला रखी जा रही है। दमोह की भूमि से प्रदेश के 20 लाख किसानों को खातों में 400 करोड़ की राशि हस्तातंरित की जायेगी। प्रदेश में कोरोना काल में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 1 लाख 18 हजार करोड़ रूपये की राशि जनता के खातों में डाली गई। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की गुणवत्ता की सुधार के लिए 20-25 किलोमीटर की दायरे में सी.एम. राईज स्कूल खोले जायेंगे। तीन साल के भीतर दमोह जिले के प्रत्येक गांव और घर में नल की टौटी से शुद्ध जल मिलने लगेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कैन और बेतवा नदी बुन्देलखण्ड की जीवन रेखा है। कैन और बेतवा नदी पर बांध बनाने में आ रहे अवरोधों को दूर कर लिया गया है। नदियों को जोड़कर बांध बनाया जायेगा और बुन्देलखण्ड की भूमि को सिंचित किया जायेगा। इसमें दमोह जिले की अधिकांश जमीन सिंचित होगी। उन्होंने कहा कि चर्चा में रेल्वे के संबंध में सुझाव प्राप्त हुआ है। इसे प्रदेश सरकार प्रभावी ठंग से रखेगी। उन्होंने कुर्मी समाज के लिए भवन हेतु जमीन देने और सिन्धी समाज के लोगो को स्थाई पट्टे देने की बात भी कही।


कार्यक्रम को केन्द्रीय पर्यटन मंत्री श्री प्रहलाद पटैल ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि उनके संसदीय क्षेत्र में तीन जिले दमोह, सागर और छतरपुर आते हैं। तीनों जिलों में मेडीकल कॉलेज की सुविधा होगी। दमोह ऐसा संसदीय क्षेत्र है जिसके प्रत्येक जिले में मेडीकल कॉलेज होगा।

Our Visitor

9 4 2 5 6 8
Users Today : 14
Total Users : 942568
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: