Domain Registration ID: DD9A736AA76EB45DBBFAF21E3264CDF2D-IN {Editor - Ashish Kumar Jain 9893228727}

सीएम से मुलाकात हुई, सिद्धार्थ मलैया की क्या बात हुई, ये बात….

दमोह : दमोह मेंं आगामी दिनों मेंं उपचुनाव है। ऐसे हालात में मुख्यमंत्री का दमोह दौरा और इस दौरे केे दौरान भारतीय जनता पार्टी केे युवा नेेता सिद्धार्थ मलैया ने शिवराज से हेलीपैड पर मुलाकात की और इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। मुलाकात के बाद जहां सिद्धार्थ मलैया ने मीडिया सेे चर्चा करके राजनीतिक गलियारोंं में हलचल मचा दी है। वही तेजी के साथ इस मुलाकात के वीडियो और फोटो वायरल हो रहे हैं। हालांकि सिद्धार्थ मलैया ने इस मुलाकात को एक कार्यकर्ता और वरिष्ठ पदाधिकारी केेे बीच की मुलाकात बताई है। लेकिन इस मुलाकात के वर्तमान परिस्थितियों मे अनेक मायने और कयास लगाए जा रहे हैं।

राहुल सिंह लोधी होंगे भाजपा प्रत्याशी

आगामी दिनों में होने वाले दमोह के उपचुनाव में कशमकश के बीच भाजपा ने राहुल सिंह पर दांव लगाया है। सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंच से राहुल लोधी को प्रत्याशी घोषित कर जनता से उनके लिए आशीर्वाद मांगा है और अब साफ है कि तमाम अटकलों पर विराम भी लगा दिया। जिस वक़्त मुख्यमंत्री ने ये घोषणा की उंस समय भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल सहित मंत्री गोपाल भार्गव सहित कई दिग्गज मंच पर थे। जिससे साफ है कि सत्ता और संघठन दोनों ने तय करके ही कदम आगे बढ़ाया है। कयास लगाए जा रहे थे इस सीट के प्रबल दावेदार सबसे पुराने नेता जयंत मलैया को पार्टी उम्मीदवार बनाएगी और राहुल वेयर हाउसिंग कारपोरेशन के चेयरमैन रहते हुए पार्टी में सेवाएं देंगे लेकिन आज के दौरे ने संभावनाओं को खत्म कर दिया।

सिद्धार्थ मलैया के बयान से मची खलबली

जिस वक्त सीएम खुलकर मंच से राहुल को वोट मांग रहे थे खुद मलैया मंच पर मौजूद थे और आलम क्या होगा समझा जा सकता है लेकिन मलैया अपने स्वभाव और वरिष्ठ होने का एहसास दिलाते रहे। लेकिन मामला यहीं नही थमता पूर्व मंत्री मलैया के बेटे और इलाके में सक्रिय भाजपा नेता सिद्धार्थ मलैया के बयान ने इलाके की राजनीति में खलबली मचा दी है।

सिद्धार्थ से मीडिया कर्मियों ने राहुल की टिकिट घोषणा पर प्रतिक्रिया ली तो उन्होंने घोषणा के लिए राहुल को बधाई तो दी। लेकिन साफ कहा कि सम्भावनाओं के दरवाजे बंद नही हुए हैं। अभी सिर्फ प्रत्याशी घोषित किया गया है। पार्टी के एबी फार्म आना बाकी है और चुनाव भी। सिद्धार्थ के तेवर बता रहे हैं कि सीएम पार्टी संघठन की मंशा साफ होने के बाद भी राहुल को चुनावी रण आसान नही होगा और कहीं न कहीं निकलता दिख रहा धुंआ किसी बड़ी आग की तैयारी में है।

इन हालातों में क्या डगर होगी आसान

आपको बता दें कि बीते आम चुनाव में राहुल ने कांग्रेस की टिकिट पर लड़ते हुए जयंत मलैया को पराजित किया था और बदलाव की बयार चली तो सूबे में 28 सीटों पर चल रहे उपचुनाव के बीच मे राहुल कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए विधायक पद से भी त्याग पत्र दे चुके हैं। कई महीनों के इंतज़ार के बाद शिवराज सरकार ने राहुल को वेयर हाउसिंग एवं लाजिस्टिक कारपोरेशन का चेयरमैन बनाकर केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया है। राहुल को मिली जिम्मेदारी के बाद से ही दमोह के राजनीतिक समीकरण बदल गए। भाजपा अलग अलग हिस्सों में बटी दिखाई देने लगी। वहीं खुद राहुल लोधी को विरोध का सामना करना पड़ा। लेकिन राहुल डटे रहे और आज खुद शिवराज ने उन्हें पार्टी की परंपरा को दरकिनार करते हुए भरे मंच से प्रत्याशी घोषित कर दिया। अब इन तमाम हालातो के बाद ये कहना लाज़मी होगा कि दमोह के उपचुनाव की डगर भाजपा को आसान नही होगी।


Our Visitor

9 1 4 9 0 3
Users Today : 27
Total Users : 914903
Who's Online : 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: